किसी भी परीक्षा में 90% से ज्यादा मार्क्स कैसे लाएं?

Last Updated on अक्टूबर 11, 2022 by Madan Jha

किसी भी परीक्षा में 90% से ज्यादा मार्क्स कैसे लाएं?

“सभी के मां-बाप सोचते हैं मेरे बच्चे दिन में 18 घंटे पढ़े। यदि 18 घंटे पढ़ने के बाद भी अच्छा नंबर ना आए तो कौन जिम्मेवार है?

दोस्तों मैं आपको कुछ पॉइंट बता रहा हूं जिससे आपको परीक्षा में अच्छा नंबर आ सकता है। यदि आप यह सोच रहे हैं कि बिना पढ़े यह नंबर आ जाए तो फिर आप यह गलत सोच रहे हैं।

मेहनत तो आपको करना पड़ेगा। मन लगाकर पढ़ना पड़ेगा। मन को शांत करके अपने लक्ष्य की ओर बढ़ना पड़ेगा। तभी आपको अच्छे नंबर आ सकते हैं।

कई बार ऐसा होता है कि हम सभी मेहनत से काम करते रहते   हैं पर कहीं ना कहीं कुछ हमसे चूक होते रहते है। जिसके कारण हमें अच्छा नंबर नहीं आ पाता है।

जिस प्रकार किसी बर्तन के नीचे में कोई छेद हो उसमें हम कितना भी पानी भरेंगे तो  बर्तन पूरा  नहीं भरेगा। ठीक उसी प्रकार हम परिश्रम करते रहेंगे लेकिन कुछ बातों पर ध्यान नहीं देंगे तो हमें  परिश्रम का पूरा फल नहीं मिल पाएगा।

मैं जो ट्रिक बता रहा हूं वह सभी विद्यार्थियों के लिए लागू है। चाहे आप 10वीं, 12वीं में पढ़ रहे हो या फिर SSC CGL, बैंक, Railway Group D, NDA या NAVY की तैयारी कर रहा हो। सभी यह ट्रिक अपनाकर परीक्षा में  90% से भी ज्यादा नंबर ला सकते हैं।

 परीक्षा में अच्छा नंबर लाने के 10 तरीके

मैं नीचे कुल 10 तरीके बता रहा हूं। यदि अपने इस तरीकों को अपनाया तो आप किसी भी परीक्षा में अच्छा नंबर ला सकते हैं।

1. अच्छी डाइट

आपको अपने खान-पान पर विशेष ध्यान रखना होगा। पढ़ने में चाहे कितना भी तेज हो यदि आप महीने में दो-चार दिन बीमार हो जाएंगे तो वह सारा पढ़ाई चौपट हो जाएगा।

अच्छी डाइट लेने से हमारा मस्तिष्क और शरीर दोनों स्वस्थ रहता है। हम बीमार नहीं पड़ते हैं और अपने पढ़ाई को लगातार जारी रखते हैं।

मौसम के अनुसार  फल सब्जी का सेवन करना चाहिए। जरूरी नहीं कि हमें महंगा ही फल लाना चाहिए। सस्ता फल भी बहुत मिल जाएगा। सस्ती सब्जी बाजार में मिल जाती है। हमें उसका सेवन करना चाहिए।

यदि आपने पूरी साल अच्छी मेहनत की है और परीक्षा समय में  बीमार हो गए तो फिर क्या होगा पूरे साल की मेहनत का।  इसलिए पहले पेट पूजा फिर काम दूजा। यह बात हमेशा याद रखें।

फास्ट फूड  आज का फैशन खाना बन गया है। यदि आप स्वास्थ रहना चाहते हैं तो सभी तरह के फास्ट फूड जैसे बर्गर, पिज़्ज़ा, चाऊमीन इस सभी से दूर रहे। क्योंकि यह फास्ट फूड आपको पढ़ाई में फास्ट नहीं कराएगा लेकिन आपकी आयु फास्ट बढ़ती जाएगी।

2. कौन सा समय पढ़ाई के लिए बेस्ट है

आपके मन में यह बात आती होगी कि किस समय में पढ़े कि ज्यादा से ज्यादा देर तक हमारे मस्तिष्क में रह सके। कई लोग देर रात तक पढ़ते हैं। कई पूरे दिन पढ़ते हैं शाम को सो जाते हैं। सबका अपना-अपना नियम एवं तरीके हैं।

लेकिन पढ़ाई का सबसे बेस्ट समय कौन सा है? दोस्तों पढ़ाई का सबसे बेस्ट समय वही है जो हमारे पूर्वज ने निर्धारित किया है। आप बचपन से सुनते आ रहे हैं कि सुबह का पढ़ाई सबसे अच्छा पढ़ाई होता है।

यानी सुबह 4:00 से लेकर 6:00 बजे तक पढ़ाई सबसे अच्छा होता है। इसे यूं ही नहीं कहा गया है। इस समय को वैज्ञानिक भी पढ़ाई के लिए सबसे अनुकूल समय मान रही है।

इस समय पूरा वातावरण पूरी तरह शांत रहता है। कहीं भी कोई भी किसी प्रकार का शोरगुल नहीं रहता है। प्राकृतिक पूरी तरह अपने रूप में विद्यमान रहते हैं।

इस समय यदि हम पढ़ते हैं वह हमें ज्यादा से ज्यादा फायदा देती है। इसलिए हमेशा प्रयास करें कि सुबह 4:00 से लेकर 6:00 बजे तक पढ़ाई जरूर करें।

3. सोशल मीडिया से दूर

वर्ष 2020  के नीट परीक्षा में 720 में 720 लाने वाले विद्यार्थी से जब पत्रकारों ने पूछा तो उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि मैं किसी भी सोशल मीडिया  से जुड़ा हुआ नहीं हूं।

आज के समय में बच्चे जन्म लिया और उसके मां-बाप उसके नाम से फेसबुक अकाउंट खोल देते हैं। 5 साल 7 साल के बच्चा फेसबुक चलाता रहता है। जब बच्चे का यह हाल है तो 10वीं, 12वीं क्लास के बड़े विद्यार्थी का क्या हाल होगा।

कई लोग तो मोबाइल से अपना दिन की शुरुआत करते हैं और मोबाइल पर ही  दिन खत्म हो जाता है। फेसबुक, व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम, टि्वटर, टेलीग्राम और ना जाने क्या क्या सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म उपलब्ध है।

इस सोशल मीडिया ने पढ़ाई को बिल्कुल चौपट कर दिया है। एक रिपोर्ट के अनुसार प्रति मिनट तीन करोड़ से ज्यादा मैसेज सोशल मीडिया पर शेयर किया जाता है। एक बार मोबाइल हाथ में आ गया तो फिर मिनट और घंटा क्या पूरे दिन निकल जाती हैं आपको पता ही नहीं चलता।

इसलिए यदि आपको जीवन में सफलता प्राप्त करना है और अच्छा नंबर लाकर परीक्षा पास करना है तो आज से कसम खा लीजिए मैं सोशल मीडिया का प्रयोग नहीं करूंगा।

यदि बहुत आवश्यक है सोशल मीडिया का प्रयोग करना तो इसे प्रयोग करें। लेकिन जब पढ़ाई करें तब बिल्कुल मोबाइल को दूर कर दें। क्योंकि बीच बीच में आने वाला मैसेज आपको पढ़ाई से ध्यान भटकाता रहेगा। पढ़ाई के लिए मन को शांत करना बहुत ही आवश्यक है। इसलिए पढ़ाई के वक्त बिलकुल मोबाइल से दूर रहे।

4. प्रत्येक विषय का कंप्लीट और इनकंप्लीट  चैप्टर लिखें

चाहे गणित जैसा कठिन विषय हों या हिंदी जैसा आसान। प्रत्येक विषय में कुछ चेप्टर जरूर है जो आपको कंप्लीट हो चुका है। यानी पूरी तरह आप समझ चुके हैं। उसका उत्तर आपको याद हो चुका है।

ठीक उसी प्रकार कुछ चैप्टर जरूर है जिसे आप बार-बार नजरअंदाज कर रहे हैं। वह आपका कमजोर चैप्टर बन गया है। लेकिन यदि आप अच्छा नंबर लाना चाहते हैं तो आपको सभी चैप्टर तैयार करना पड़ेगा।

इसलिए आप एक नोटबुक पर प्रत्येक विषय के कंप्लीट और इनकंपलीट चैप्टर को लिख लो।  इनकंप्लीट विषय के चैप्टर पर फोकस करो। क्योंकि यदि आपको अच्छा नंबर लाना है तो हर विषय का हर चैप्टर कंप्लीट करना पड़ेगा।

5. मिक्स पढ़ाई करें

लगातार 4 घंटे से पढ़ते जा रहे हैं। कुछ भी दिमाग के अंदर नहीं जा रहा हैै। सब ऊपर ऊपर से निकल रहा है। फिर भी पढ़ते  जा रहे हैं।

4 घंटे से लगातार लिखते जा रहे हैं। लिखावट सुंदर तो दूर खुद पढ़ने में नहीं आ रहा है। फिर भी लिखते जा रहे हैं।

ऐसा पढ़ाई नहीं करता है। ऐसा पढ़ाई से अच्छा है कि पढ़ाई मत करो। पढ़ने का तरीका है मिक्स पढ़ाई करो। जैसे यदि आप एक घंटा किसी चीज को पढ़े हैं या याद किया। फिर अगले घंटे कुछ लिखने का काम ले लो, कुछ लिखो।

जैसे एक घंटा मैथ बनाया उसके बाद एक घंटा साइंस पढ़ो। एक घंटा साइंस पढ़ने के बाद एक घंटा हिंदी का कोई कहानी पढ़ो। हिंदी पढ़ने के बाद एक घंटा सोशल साइंस का प्रश्न उत्तर लिखो।

कुछ इस प्रकार समय का सदुपयोग करें । पढ़ाई को बदलते रहो, कभी लिख लो, कभी कुछ याद कर लो। इस प्रकार समय सारणी बनाए की पढ़ाई में आपका रुचि बना रहे।

5. पिछले सालों के प्रश्नों का अध्ययन करें

यदि आपको क्या पता लग जाए कि पिछले कई सालों से किस प्रकार का प्रश्न पूछा जा रहा है तो आपको तैयारी करने में बहुत ही आसानी होगी।

चाहे आप किसी क्लास में पढ़ाई कर रहे हो या फिर SSC CGL, बैंक, Railway Group D, NDA या NAVY या अन्य प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी कर रहे हो। पिछले साल का क्वेश्चन बैंक जरूर मंगाए। उसमें देखें कि अधिकांश प्रश्न किस चैप्टर या किस किताब से पूछे जा रहे हैं। उस पर ज्यादा ध्यान देंं।

जब भी क्वेश्चन बैंक का प्रैक्टिस करें तो समय को भी ध्यान में रखें। यह नहीं कि परीक्षा के लिए समय 2 घंटा दिया जा रहा है और आप उस प्रश्न को हल करने में 3 घंटे का समय लगा रहे हो।

यह आपके लिए घातक सिद्ध हो जाएगा। इसलिए दिए गए समय से कुछ कम समय में ही  हल करने का प्रयास करें। बार-बार प्रेक्टिस करने से आप का समय बच जाएगा। कहां गया है प्रैक्टिस  मैक्स मेन  परफेक्ट। यानी प्रैक्टिस मनुष्य को परफेक्ट बनाती हैं।

6. लोंग क्वेश्चन आंसर को लिखो

याद कैसे करें? इसमें मैंने याद करने के कई तरीके आपको बताया हूं। उनमें से एक तरीका है लिखकर याद करना।

यदि कोई लॉन्ग क्वेश्चन आंसर लिखकर याद कर लेते हैं तो उसमें ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर, शॉर्ट क्वेश्चन आंसर आदि शामिल हो जाता है। इस प्रकार एक तीर से कई निशाने लग जाते हैं। इसलिए हमेशा लॉन्ग क्वेश्चन आंसर पर विशेष ध्यान दें।

लॉन्ग क्वेश्चन आंसर को याद करने से आपको ज्यादा  मार्क्स  वाले क्वेश्चन याद हो गया। उसके बाद यदि उस  क्वेश्चन के बीच में से कोई छोटा क्वेश्चन या ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन पूछा जाता है तो उसका भी जवाब आप आसानी से दे सकते हैंं।

7. लेखक और  महत्वपूर्ण तारीखें जरूर याद रखें

यदि आप हिंदी विषय में अच्छा नंबर लाना चाहते हैं तो प्रत्येक कहानी एवं कविता के लेखक का नाम जरूर याद रखें। जब भी आप किसी कहानी एवं कविता बारे में परीक्षा में लिखें तो तीन चार लाइन जरूर उस लेखक के बारे में लिखें।

यह तभी संभव है जब आप को लेखक का नाम याद है। लेखक के बारे में 3 या 4  लिखने से शिक्षक पर इसका अच्छा प्रभाव पड़ता है। आपको अच्छे नंबर आने की संभावना बन जाती है।

ठीक इसी प्रकार यदि आप सोशल साइंस में अच्छा नंबर लाना चाहते हैं तो महत्वपूर्ण तारीख जरूर याद रखें। यह तारीख आपको लोंग क्वेश्चन आंसर के साथ-साथ ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर में भी काम आएगा।

लोंग क्वेश्चन आंसर के बीच बीच में यदि हम किसी घटना का उल्लेख उस तारीख के साथ करते हैं तो इससे अच्छा इंप्रेशन पड़ता है और अच्छा मार्क्स आने की संभावना बन जाते हैं।

8. लिखावट पर ध्यान दें

हैंडराइटिंग कैसे सुधारे? इसका जवाब मैं पहले बता चुका हूं की सुंदर लिखावट कैसे लिखा जाए। प्रतियोगिता परीक्षा के लिए लिखावट का उतना खास महत्व नहीं है लेकिन 10वीं एवं 12वीं की परीक्षा में यह जरूर महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है।

यह कहीं भी लिखा नहीं हुआ है कि सुंदर लिखावट से अच्छा नंबर आता है। परन्तु यह बात हुई पूरी तरह सत्य है की सुंदर लिखावट देखकर टीचर जरूर खुश हो जाते हैं।

प्रत्येक विद्यार्थी चाहता है वह टीचर को खुश कर दें। क्योंकि जब वह खुश होगा तभी तो नंबर देकर हमें खुश करेगा। मैं पहले भी बता चुका हूं कि इंसान एक सामाजिक प्राणी है।

बुरा देख कर गुस्सा आना और अच्छा देख कर मन खुश हो जाना एक प्राकृतिक नियम है। इसलिए शिक्षक को भले ही आप खुश ना करें लेकिन अपने लिखावट पर थोड़ा ध्यान देंं।  जितना हो सके उसमें सुधार करने का प्रयास करें।

9. ओवरथिंकिंग से बचें

कई विद्यार्थी परीक्षा से पहले ही चिंता में डूब जाते हैं। आप कभी भी चिंता मत करो। चिंता की जगह चिंतन करो। यह सोचो कि हमें किस प्रकार अच्छा नंबर लाना है।

ओवरथिंकिंग (Overthinking) करने से हमारे मस्तिष्क की ऊर्जा नष्ट हो जाती हैं और हम अपनी पढ़ाई पर ध्यान नहीं दे पाते। इसके साथ ही ओवर से अनेक तरह की विपरीत प्रभाव हमारे स्वास्थ्य एवं मस्तिष्क पर पड़ता है। इसलिए Overthinking से हमेशा दूर रहें और अपना ध्यान अपने पढ़ाई पर लगाए।

10. डायग्राम को ना भूले

यदि आप 10वीं एवं 12वीं क्लास में पढ़ रहे हो तो डायग्राम का प्रैक्टिस जरूर करें क्योंकि इनकी आंखों में डायग्राम निश्चित होती पूछे जाते हैं बनाने से लॉन्ग क्वेश्चन के साथ साथ कई ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन याद हो जाता है।

यदि आप प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी कर रहे हो तो आपके लिए भी डायग्राम क्या प्रैक्टिस महत्वपूर्ण है। जैसे कुछ सवाल का उल्लेख में कर रहा हूं जो आप डायग्राम के प्रैक्टिस से बिना याद किए समझ सकते हो।

भारत के किस राज्य की सीमा बांग्लादेश से नहीं मिलती है?

भारत में कितने राज्य हैं जिसकी सीमा चीन की सीमा से सटा हुआ है?

भारत के किस राज्य की सर्वाधिक लंबी सीमा नेपाल की सीमा से मिलता है?

उपरोक्त तरह के अनेकों सवाल लगभग सभी प्रतियोगिता परीक्षा में पूछे जाते हैं? यदि आप डायग्राम का प्रैक्टिस कर लेते हैं तो यह सवाल का जवाब बहुत ही आसानी से दे सकते हैं।

स्टेशन गुरुजी

मेरे वेबसाइट का नाम स्टेशन गुरुजी हैं। मैं यहां पर पढ़ाई-लिखाई, मोटिवेशनल कहानी वित्तीय ज्ञान इत्यादि संबंधी अच्छी जानकारी शेयर करता रहता हूं। यह आपके लिए काफी उपयोगी साबित हो सकता है।

आप गूगल पर जाकर स्टेशन गुरूजी और उसके आगे अपना सवाल लिखें आपको जवाब मिल जाएगा। आप हमें ईमेल पर कर सकते हैं मेरा ईमेल पता है [email protected]

धन्यवाद।

Author

  • Madan Jha

    Hello friends, मेरा नाम मदन झा है। मैं LNMU Darbhanga से B.Com (Hons) एवं कोटा विश्वविद्यालय राजस्थान से M.Com हूं। मेरे इस वेबसाइट का नाम स्टेशन गुरुजी www.stationguruji.com हैं। मैं रेलवे विभागीय परीक्षा (Railway LDCE Exam), बच्चों के पढ़ाई लिखाई, नौजवानों के लिए मोटिवेशनल कहानी एवं निवेश, स्टॉक मार्केट संबंधी वित्तीय एवं ज्ञानवर्धक जानकारी शेयर करता रहता हूं।( नोट - उपर में Download बटन लगा है। Download करने के लिए पेज़ पर सबसे नीचे View Non-AMP version पर क्लिक करें। फिर नए पेज़ पर Download बटन पर क्लिक करके इसे Download कर सकते हैं।)

Leave a Comment