जिंदगी में हमेशा खुश कैसे रहें? खुश रहने के 11 तरीक़े।

Last Updated on अक्टूबर 11, 2022 by Madan Jha

ख़ुशी क्या है

जब तक हम यह नहीं समझेंगे कि खुशी  क्या है? तब तक हम खुश कैसे रह पाएंगे। इसलिए हमें यह जानना आवश्यक है कि आखिर खुशी है क्या? ख़ुशी शब्द का परिभाषा क्या है?

 

दोस्तों, सभी के लिए खुशी एक समान नहीं होती। यदि किसी छोटे बच्चे को रोड पर चलते हुए ₹10 के नोट मिल जाए उसे बहुत खुशी होगी।  किसी बड़े लोग को ₹10 का नोट मिल जाए उसे शायद इतना खुशी नहीं मिल पाए।

आप जिस लड़की/लड़का से प्यार करते हो यदि आपकी शादी उससे हो जाए आपको बहुत खुशी मिलेगी। यदि उसी लड़की/लड़का के साथ दूसरे लड़का का शादी हो जाए तो उस लड़का को इतना खुशी नहीं मिलेगी।

 

इसलिए आपको किस काम में खुशी मिलती है यह सिर्फ आप ही जानते हैं। जिसे करने से, जिसे देखने से और जहां जाने से आपके दिल में आनंद उत्पन्न हो वही खुशी है।

 

उसे देखकर जो चेहरे पर खुशी आती है

वह सोचती हैं कि बीमार का हाल अच्छा है 

 

मुझे कभी-कभी बैंक जाने का मौका मिलता है। वहां कई बूढ़ी माताओं का ₹400 वृद्धा पेंशन आती है। ₹400 पाने पर उसके चेहरे पर जो खुशी आती है उसे हम शब्दों में बयां नहीं कर सकते हैं। जबकि किसी बड़े लोगों को के लिए वह ₹400 कुछ भी नहीं होता।

 

इसलिए सभी व्यक्तियों का खुश के कारण अलग अलग हो सकते हैं लेकिन खुश कैसे रहा जाए यह नियम सभी व्यक्ति पर एक समान लागू होता है। जैसे पैसे देख कर सब लोग खुश होते हैं भले वह ₹2 हो या दो लाख। जिसकी जैसी आमदनी उसको वैसी खुशी मिलती है।

 

जिंदगी में हमेशा खुश रहने के 11 तरीके

मैं आपको कुछ तरीके बता रहा हूं जिसे अपनाकर आप अपनी जिंदगी में हमेशा खुश रहेंगे। यह सभी तरीके बिल्कुल आसान है। मैं कोई  हवा हवाई बात नहीं करूंगा। एक आम व्यक्ति जो नियम पालन कर सकता है। सिर्फ उन्हीं बातों का मैं चर्चा करूंगा।

 

1. मोटिवेशनल कहानी पढ़ें

जब जब आपको लगे कि इस दुनिया में सबसे दुखी इंसान मैं हूं या जीवन कभी भी परेशानी आए तो आप मोटिवेशनल कहानी जरूर पढ़ें। इस कहानी में कई सच्ची घटना का उल्लेख किया जाता है।

 

सच्ची मोटिवेशनल कहानी में बताया जाता है कि मनुष्य किस प्रकार अभाव ग्रस्त होकर भी अपना लक्ष्य प्राप्त कर लिया। काफी दुखों के बावजूद किस प्रकार वह खुश रहा। इसलिए जब भी समय मिले हमेंं अच्छी मोटिवेशनल कहानी जरूर पढ़़नी चाहिए।

 

2. ज्यादा सोच विचार (Overthinking) ना करें

यदि आपको जिंदगी में खुश रहना है कभी भी Overthinking ना करें। Overthinking एक बीमारी है जो हमें पिछले जिंदगी में ले जाती हैं। जिसे सोच सोचकर हम दुखी होते रहते है।

 

महिला में यह समस्या ज्यादा पाया जाता है। जब भी वह फ्री बैठती हैं तो Overthinking शुरु कर देती हैं। जैैसे 5 साल पहले मुझे मेरी सासू  मां ने यह बात बोला था। उनको यह बात नहीं बोलना चाहिए।

 

3 साल पहले मेरे देवर ने मेरी बेज्जती की थी। उसे ऐसे नहीं करना चाहिए। इस तरह की बातें सोच सोच के वह अपना जीवन को दुखी करती रहती है। इसलिए कभी भी Overthinking ना करें।

 

3. स्वस्थ्य रहें मस्त रहें

बड़े बुजुर्ग कहते थे पहला सुख निरोगी काया। स्वस्थ्य जीवन ही सबसे बड़ी सुख होती है। आपके पास करोड़ों की संपत्ति है लेकिन आपका शरीर स्वस्थ नहीं है। आप कितना भी चाहेंं खुश  नहीं रह सकते हैं।

 

खुश रहने के लिए स्वस्थ्य रहना जरूरी    है।    इसलिए अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दें। समय से दैनिक क्रिया करना शुरू कर दे। योगा और व्यायाम को अपने दिनचर्या में शामिल करें। अच्छे खान-पान पर भी ध्यान दें।

 

4. दूसरों से तुलना मत करें

दुखी रहने का एक कारण यह भी है कि हम दूसरों से अपनी तुलना करते रहते हैं। कभी भी दूसरों से तुलना ना करें। अपने आप को किसी से कम मत समझो। जिस हाल में रहे उस हाल में खुश रहे।

 

ईश्वर ने हर इंसान को अलग अलग बनाया

इसलिए दूसरे की नकल करके हम ईश्वर का अपमान ना करें।

आपके पास जो है उसका सम्मान करें। कोई भी इंसान इस दुनिया में पूर्ण नहीं होता। सभी के पास कुछ ना कुछ कमी जरूर होता है। इसलिए कभी भी अपनी तुलना दूसरों से ना करें।

तेरे पास जो है उसका कद्र कर

 यहां आसमां के पास भी

खुद की जमीं नहीं 

 

5. दूसरों से उम्मीद ना रखे

उम्मीद किसी से ना रखें। एक पुरानी भजन है दाता एक राम भिखारी सारी दुनिया। देने वाला दाता केवल एक ही है राम। पूरा दुनिया भिखारी है और भिखारी से क्या उम्मीद आप कर सकते हैं। इसलिए आप हमेशा भगवान से उम्मीद करें।

 

हमेशा अपने आप से उम्मीद रखनी चाहिए। क्योंकि उस ईश्वर की संतान है जिसने आपको दुनिया में भेजा है। जो आपके अंदर समाया हुआ है।  अपने आप से उम्मीद रखना ही ईश्वर की सच्ची श्रद्धा है।

 

6. व्यस्त रहें

Overthinking, दूसरों से तुलनाा, दूसरे की निंदा यह सभी बुराई हम तभी कर सकते हैं जब हम ने निठल्ला बैठे रहते हैं। जब आप अपने काम में व्यस्त रहेंगे तो आपके पास फुर्सत ही नहीं इस फालतू काम के लिए। इसलिए अपने काम में व्यस्त रहें।

मेरे पास वक्त नहीं है नफरत करने का उन लोगों से

जो मुझसे नफरत करते। क्योंकि मैं व्यस्त हूं

उन लोगों में जो मुझसे प्यार करते हैं

 

7. खुद पर विश्वास रखें

जिंदगी आपकी है आपको अपने आप पर विश्वास रखना पड़ेगा। यदि आप अपने आप पर विश्वास नहीं रखेंगे तो दूसरा आप पर क्यों विश्वास करेगा।  विश्वास में ऐसी ताकत है कि आपको बड़ी से बड़ी समस्या से बाहर निकाल सकता है।

 

जहां विश्वास है जहां आशा है वही जिंदगी है। जहां अविश्वास है जहां निराशा हैै, वहां मौत है।   इसलिए अपनी जिंदगी में आशावादी बनें। अपने आप पर विश्वास कीजिए। विश्वास के साथ मंजिल की तरफ बढ़ेे।  हमेशा खुश रहेंगे। खुद पर विश्वास नहीं रहेगा तो आप खुश नहीं रह सकते हैं।

 

8. ज्यादा की इच्छा ना रखें

इस दुनिया में इच्छा अनंत होती है। इच्छा का कोई अंत नहीं है। एक इच्छा पूरा होते हैं दूसरा इच्छा जन्म लेती है। पहले एक घर की इच्छा, फिर उससे बड़ा घर की इच्छा, फिर उससे भी बड़ा घर का इच्छा।

 

पहले एक गाड़ी की इच्छा, फिर दो गाड़ी की इच्छा,  उससे बड़ी गाड़ी की इच्छा। यह कभी खत्म होने वाली बीमारी नहीं है। इसलिए इच्छा को सीमित रखें। यदि आप खुश रहना चाहते हो तो यह बहुत जरूरी है। क्योंकि ज्यादा इच्छा ही दुखों का कारण बनता है।

 

9. अमीर बनें

एक कटु सत्य है

सभी गरीब अमीरों से नफरत करता है।

लेकिन सभी गरीब अमीर भी बनना चाहता है।

आपको यह बात स्वीकार करनी होगी कि आर्थिक समस्या अन्य समस्या से बड़ी होती है। आज के समय में आत्महत्या, परिवारिक कलह जैसे  बीमारी कि यदि आप  जांच करेंगे तो पता लगेगा इसके मूल वजह आर्थिक समस्या यानी पैसे की समस्या है।

 

अमीर लोग भले ही खुश रहे या ना रहे लेकिन उन्हें यह आर्थिक समस्या नहीं होती। गरीबों के दुखी रहने का मुख्य वजह आर्थिक समस्या हीं है। इसलिए अपना आर्थिक स्थिति सुधार करने का भरसक प्रयास करें।

 

10. दुष्ट लोगों से दूर रहें

आपके भी जिंदगी में जरूर ऐसा व्यक्ति होगा जो आपके पास आते ही नेगेटिव बातें करना शुरू कर देता होगा। जैसे अरे तुम्हारा तो भाग्य खराब है। तुम्हारा तो जीवन ही नर्क बन गया है। तुम कुछ भी नहीं कर सकते हो।

 

कुछ लोगों का ऐसा स्वभाव होता है। हम उसके स्वभाव को नहीं बदल सकते। लेकिन हम उसे दूरी जरूर बना सकते हैं। ऐसे व्यक्ति से दूर रहने का प्रयास करें।

 

ऐसे व्यक्ति आपके सपने और आशावादी को निराशावादी में बदलने का काम करते हैं। कभी भी ऐसे व्यक्ति के पास ना जाएं और ना ही उसे अपने पास बुलाएं।

 

11. आशावादी बने

 

यदि आप खुश रहना चाहते हो तो जीवन में हमेशा आशावादी रहे। यदि आप पढ़ने वाले बच्चे हो और आपके मन में यह आशा रहेगी कि हम परीक्षा में अच्छा नंबर से पास  हो जाएंगे तभी आप खुश रहोगे।

 

यदि आप व्यापार करने वाले व्यक्ति हो जब आप अपने मन में आशा रखोगे कि मुझे व्यापार में ज्यादा आमदनी होगी तभी आप खुश रह पाओगे। आशा एक बहुत बड़ी चीज है। आपने रामायण सीरियल जरूर देखी होगी या रामायण किताब जरूर पढ़े होंंगे।

 

सीता जी को यह आशा थी कि राम जी विशाल समुद्र पार करके आएंगे और मुझे यहां से ले जाएंगे। तभी वह रावण की अशोक वाटिका में भी जिन्दा रही। सबरी कई सालों तक वन में रही। जवान से बूढ़ी हो गई। लेकिन उन्हें आशा थी कि राम जी एक बार जरूर उनसे मिलने आएंगे। उसी आशा के दम पर वह कई साल तक जीवित रही। इसलिए आशा करना  कभी ना छोड़ेे।

 

खुश रहने का सबसे आसान तरीका

महात्मा बुद्ध ने कहा था यह संसार दुखों का भंडार है। कई हमारे गायक कलाकार हमेशा गाना गाते हैं दुनिया में कितना गम है, मेरा गम कितना कम है।

 

कहने का तात्पर्य है जिंदगी में गम भरा हुआ है। खुशी किसी दुकान में नहीं मिलता जिसे हम खरीद कर खुश हो सके। इसलिए खुश होने का सबसे आसान उपाय हैं हमें छोटी-छोटी बातों में खुशियां ढूंढना पड़ेगा।

 

आजकल संयुक्त परिवार टूटता जा रहा है। एकल परिवार में पति पत्नी और 1 बच्चे। किसी किस परिवार में दो बच्चे होते हैं। पति ड्यूटी पर, पत्नी मोबाइल में व्यस्त और बच्चे टीवी और मोबाइल में लगे रहते हैं।  फिर उस परिवार में  लोग खुश कैसे रहेंगे।

 

इसलिए खुश रहने का कुछ बहुत ही आसान तरीका आपको बता रहा हूं। कुछ दिन इसे प्रयोग में लााकर देखें। जरूर आप खुश रहेंगे।

 

1. परिवार में जितने भी सदस्य 2,3 या 4 सब एक साथ मिलकर खाना खाए।

2. सप्ताह में कम से कम 1 दिन पूरे परिवार कहीं बाहर जरूर घूमने के लिए जाए। हो सके तो महीना में 1 या 2 दिन बच्चों के साथ बाहर न खाना खाए।

3. प्रतिदिन खाना बनाने से पहले  बच्चों से जरूर बात कर ले कि आज खाना में क्या बनाऊं। जितना हो सके बच्चे का पसंदीदा खाना बनाए।

4. छोटी-छोटी बातों में खुशियां ढूंढें। जैसे बच्चे को स्कूल में यदि किसी टेस्ट में भी अच्छा नंबर आ गया तो छोटा सा परिवारिक पार्टी घर में रखें।

5. केबल  बर्थडे पर केक लाने का इंतजार ना करें। महीने में एक दो बार केक मंगवाएं।  केक मंगवाएं का कोई ना कोई बहाना जरूर उत्पन्न करें।

6. परिवार के सभी सदस्य एक साथ बैठकर कुछ देर जरूर आपस में बातें करें। हंसी मजाक करें। कुछ देर ठहाका लगाकर हंसने का जरूर प्रयास करें।

7. महीने में कम से कम 1 दिन घर में या फिर सिनेमा हॉल 1 मूवी जरूर देखें।

इस प्रकार छोटी-छोटी बातों से खुशी उत्पन्न होती है। हम बड़े मौके पर खुश होने का इंतजार करते रहे और वह बड़ा मौका आने से पहले हम दुखी हो जाए। यह बात बिल्कुल ठीक नहीं है। जितना हो सके खुश रहे।

 

पत्नी को खुश कैसे रखें

आज के समय में कुछ शब्द बहुत ही चर्चित हो गया है। इस शब्द का हम उल्लेख अखबार, न्यूज़ चैनल, यूट्यूब पर देखते एवं सुनते रहते हैं। वह शब्द हैं तालाक, डाइवोर्स। तलाक उर्दू शब्द है एवं डाइवोर्स अंग्रेजी शब्द। हिंदी में इसे क्या कहते हैं यह पता नहीं।

 

आज के समय में परिवारिक झंझट बहुत ज्यादा ही बढ़ गया है। चाहे किसी भी कारण से पति-पत्नी का झगड़ा के कारण कई विकट परिस्थिति उत्पन्न होती हैं। बच्चों के व्यवहार एवं पढ़ाई पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है।

 

पति पत्नी में अनबन के कारण परिवार में अशांति का माहौल बन जाता है। जिसमें हम कितना भी चाहे खुश नहीं रह सकते हैं। इसलिए यदि आप खुश रहना चाहते हो तो अपनी पत्नी को जरूर खुश रखें। क्योंकि कहा गया है हैप्पी वाइफ हैप्पी लाइफ।

 

बिना पत्नी के खुश रहे आप और आपके बच्चे खुश नहीं रह सकते हैं। इसलिए पत्नी जब तक आपकी खुश नहीं रहेगी तब तक आप खुश नहीं रह सकते हो।

 

कुछ दिन पहले दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बिल गेट्स को उसके पत्नी ने तलाक दे दिया। पूरी दुनिया को आश्चर्यचकित कर दिया। क्योंकि 27 साल शादी के बाद कोई महिला यदि अपने पति को तलाक दे दे तो यह एक दुखद समाचार है।

 

औरत यदि चाहे तो शराबी के साथ

पूरी जिंदगी निकाल सकती है।

नहीं तो दुनिया के सबसे अमीर

बिल गेट्स को भी छोड़ सकती हैं।

 

इसलिए आप कभी मत यह सोचे मेरे पास खूब पैसे हैं पत्नी मुझसे नाराज नहीं होगी। क्योंकि बिल गेट्स जितना अमीर तो आप  बन नहीं सकते हैं। जब उन्हें छोड़ दिया तो आप किस गली के शेर हो।

 

पत्नी को खुश रखने के कुछ आसान तरीके बता रहा हूं। इसे जरूर आजमा कर देखें। कोई गारंटी नहीं है कि खुश हो जाए। लेकिन यह गारंटी जरूर है की यह तरीके आजमाने से वह नाराज नहीं होगी।

 

1. थोड़ा झूठ बोलना सीखे। पत्नी को खुश करने के लिए झूठा ही सही प्यार जरूर दिखाएं। कुछ शायरी याद कर ले

तुम ख्याल रखना अपना

मेरे पास आज भी कोई

तुम सा नहीं।

 

2. शादी का सालगिरह हो या फिर करवा चौथ, गिफ्ट देने का जरूर प्रयास करें। जरूरी नहीं कि सोना चांदी ही हो। एक ड्रेस देकर भी आप उसे खुश  रख सकते हैं।

 

3. ना चाहते हुए भी आप अपने ससुराल वाले जैसे आपका साला, आपके सास-ससुर जी का एक दो बार चर्चा जरूर करें। चर्चा ही नहीं उनके बारे में एक दो  अच्छे-अच्छे वाक्यों का जरूर प्रयोग करें।

 

4. खाने में नमक हो या ना हो लेकिन प्रतिदिन खाना खाने वक्त खाने के बारे में अच्छा जरूर बोलें।

 

5. जब भी आप ड्यूटी से घर आए तो आते ही मुस्कुराकर जरूर बात करें।

जब भी मिलो तो गले से लगाना जरूर

थोड़ा सा ही सही लेकिन प्यार जताना जरूर।

 

6. यदि मैडम फोन पर किसी से बात कर रही हो तो बिल्कुल भी उन्हें डिस्टर्ब ना करें। नहीं तो आ बैल मुझे मार वाली कहावत लागू हो जाएगी।

 

7. उनकी पसंद एवं नापसंद को बिल्कुल याद रखें और समय-समय पर लाते रहे।

मंजर भी बेनूर था और

फिजाएं भी बेरंग थी

बस तुम याद आए और

मौसम सुहाना हो गया।

 

8. दिन में दो-तीन बार जरूर पूछें खाना खाए कि नहीं, भले ही आप उसे खाना खाते देख रहे हो।

एक हसरत थी कि कभी

वो भी हमें मनाए

 पर ये कमबख्त दिल कभी

उनसे रूठा ही नहीं।

 

धन्यवाद।

Author

  • Madan Jha

    Hello friends, मेरा नाम मदन झा है। मैं LNMU Darbhanga से B.Com (Hons) एवं कोटा विश्वविद्यालय राजस्थान से M.Com हूं। मेरे इस वेबसाइट का नाम स्टेशन गुरुजी www.stationguruji.com हैं। मैं रेलवे विभागीय परीक्षा (Railway LDCE Exam), बच्चों के पढ़ाई लिखाई, नौजवानों के लिए मोटिवेशनल कहानी एवं निवेश, स्टॉक मार्केट संबंधी वित्तीय एवं ज्ञानवर्धक जानकारी शेयर करता रहता हूं।( नोट - उपर में Download बटन लगा है। Download करने के लिए पेज़ पर सबसे नीचे View Non-AMP version पर क्लिक करें। फिर नए पेज़ पर Download बटन पर क्लिक करके इसे Download कर सकते हैं।)

Leave a Comment