Online Classes से क्या फायदा और नुकसान हैं?

Last Updated on अक्टूबर 11, 2022 by Madan Jha

पिछले 1 सालों से भी ज्यादा समय से ऑनलाइन क्लास  जोरदार लोकप्रिय हुई है। कोरोना काल से पहले ना के बराबर विद्यार्थी ऑनलाइन क्लास  करते थे। लेकिन कोरोना जब से आया है ऑनलाइन क्लास  की व्यापक रूप से प्रसार  हुई है।

बहुत सारे स्कूल अपने बच्चों को ऑनलाइन क्लास शुरू कर दिया है। दूसरे देशों में तो ऑनलाइन क्लास बहुत पहले से चल रही थी पर इंडिया में उतना लोकप्रिय नहीं थी जितना यह अब लोकप्रिय हो रही है।

कुछ लोग मन से अपना रहे हैं तो कुछ इसे मजबूरी में अपना रहे हैं। कई लोगों का मानना है की स्कूल बंद है कोरोना  समय में घर से बाहर नहीं निकल सकते। ऐसे समय में बच्चे ऑनलाइन क्लास में कुछ पढ़ ले तो लॉकडाउन में समय का उपयोग हो जाएगा।

कुछ लोग का मत है कि ऑनलाइन क्लास में बच्चे उतना नहीं समझ पाते जितना कि ऑफलाइन में। ऊपर से मोबाइल ज्यादा देर तक रखने से बच्चे बिगड़ रहे है। कई घंटे तक मोबाइल से पढ़ने पर बच्चों का आंख खराब हो रहा है।

दोनों अपनी अपनी जगह पर सही है। सभी लोग अपना  अपना बात बता रहे है। तो क्या भविष्य भी ऑनलाइन क्लास की ओर बढ़ रही है। आने वाला समय में क्या ऑनलाइन क्लास इससे भी कई गुना बढ़ जाएगा। यह सभी सवालों का जवाब एवं समाधान आपके बता रहा हूं।

ऑनलाइन क्लास क्यों जरूरी है?

ऑनलाइन क्लास समय की मांग है। आप चाहे या ना चाहे आप को अपनाना ही पड़ेगा। जैसा कि आप जानते हैं कि इस लॉकडाउन में सभी स्कूल और कोचिंग बंद है। ऐसे में यदि आप अपने बच्चे को ऑनलाइन क्लास नहीं करवाया तो आपका बच्चा आगे नहीं बढ़ पाएगा।

यदि महीने 2 महीने की बात हो तो हम उसको मना भी कर सकते हैं। लेकिन एक साल से ज्यादा वक्त हो गया। बच्चे एक क्लास से दूसरी क्लास में प्रमोट हो गए। जिसने पढ़ाई किया वह भी और जो नहीं पढ़ाई किया वह भी।

आगे किस बच्चे को परीक्षा में अच्छा नंबर आएगा। वह बच्चा जिसने ऑनलाइन क्लास किया या वह बच्चा जिसमें ऑनलाइन क्लास नहीं किया। समय को देखते हुए हमें ऑनलाइन क्लास को अपनाना पड़ेगा।

कई मां बाप अपने बच्चे को चोरी छुपे बगल के ट्यूशन/कोचिंग में भेज देते हैं। यह उसके लिए जान का खतरा है। सरकारी गाइडलाइन के अनुसार यदि हम अपने बच्चों को दूसरे के यहां लॉकडाउन में पढ़ाई करने भेजते हैं कि हम अपना ही नुकसान कर रहे हैं।

जैसा कि आपको पता है कि 2021 में सीबीएसई 10वीं एवं 12वीं दोनों क्लास का परीक्षा रद्द करके सभी विद्यार्थी को पास कर दिया  है। बहुत से राज्य सरकार भी इसी कदम पर चलकर अपने राज्य के 10वीं और 12वीं परीक्षा लिए बिना ही बच्चों को पास कर दिया है।

ऐसे में उस बच्चे का मनोबल बढ़ रहा है जिसमें ऑनलाइन क्लास नहीं किया। लेकिन जिसने ऑनलाइन क्लास किया और पढ़ने में मन लगाया की वह निराश हो गयाा है। अभी सभी बच्चे भले ही प्रमोट हो जाए लेकिन आगे उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ेगा जिसने ऑनलाइन क्लासेज नहीं की है या मन लगाकर पढ़ाई नहीं किया।

लॉकडाउन रहे या ना रहे समय निकल जाता है। आप प्रमोट हो जाओगे। वह क्लास भी निकल जाएगा। लेकिन जिस सब्जेक्ट में जो चैप्टर आप नहीं पढ़ सके वह फिर वापस आपकी जिंदगी में नहीं आएगा।

अगली क्लास में यदि उसी चैप्टर से संबंधित सवाल आएंगे तो आप उसे समझ नहीं पाएंगे। आपका नींव खोखला हो जाएगा और खोखले नींव पर कोई बड़ा मकान नहीं बन सकता। इसलिए अपने बच्चों को ऑनलाइन क्लास करने के लिए प्रेरित करें।

ऑनलाइन क्लास करने से फायदे

यदि आप  कुछ बातों पर गौर करोगे तो ऑनलाइन क्लास  के कई फायदे हैं। कई मामलों में ऑनलाइन क्लास ऑफलाइन से भी ज्यादा अच्छा हैै। आपको मैं ऑनलाइन क्लास के फायदे बता रहा हूं। यह पढ़़कर आपको ऑनलाइन क्लास करने पर सोचने  के लिए मजबूर कर देगा।

1. समय की बचत

ऑनलाइन क्लास करने से समय की बचत होती हैै। ऑफलाइन क्लास में स्कूल आने जाने में ही कम से कम 1 घंटे खराब होते हैं। ऊपर से बच्चे स्कूल बस में थकान महसूस करते रहते हैं। ऑनलाइन क्लास में यह समस्या नहीं होती है।

2. केवल पढ़ाई पर जोर

ऑनलाइन क्लास में केवल पढ़ाई पर ही जोर दिया जाता है। ऑफलाइन में कई पीरियड बच्चे का स्कूल में खेलकूद एवं दूसरे एक्टिविटी के दिए जाते हैं। ऑनलाइन क्लास में ऐसी एक्टिविटी नहीं किए जाते हैं। जिससे जितना देर बच्चे पढ़ते हैं केवल पढ़ाई संबंधी बातें सीखते हैं।

3. बच्चे के ऊपर पेरेंट्स का भी नजर

आपके बच्चे को स्कूल टीचर किस प्रकार पढ़ाते हैं। स्कूल टीचर के पढ़ाने का ढंग क्या है? या आपके बच्चे किस प्रकार समझते हैं? आप अपनी आंखों से उसे देख सकते हैं।

ऑनलाइन क्लास के दौरान आपके बच्चे टीचर से सवाल पूछते हैं या नहीं पूछते हैं। कोई गलत व्यवहार तो नहीं करते हैं।  आप अपनी आंखों सेे यह सभी  देख सकते हैं और बच्चे का प्रोग्रेस भी आप जांच कर सकते हैं।

4. बच्चों को समझने में  सहायक

ऑनलाइन क्लास करने वक्त बच्चे किसी भी कन्फ्यूजन को टीचर के साथ शेयर कर सकते हैं। क्योंकि वह घर से क्लास कर रहे हैं। वह जितना बार चाहे  उतना बार सर से पूछ सकते हैं। इससे बार-बार उन्हें समझने में सहायक होता है।

5. सभी को समान अवसर

ऑनलाइन क्लास सभी को समान अवसर देती है। जो विद्यार्थी शहर से काफी  दूर गांव में रहते हैंं। उन्हें भी शहर के बच्चे जैसे पढ़ने का अवसर मिल जाता है।

6. डिजिटल युग की शुरुआत

हमारे प्रधानमंत्री हमेशा डिजिटल इंडिया की चर्चा करते रहते हैं। ऑनलाइन क्लासेज द्वारा छोटे-छोटे बच्चे डिजिटल इंडिया का फायदा उठा रहे है। वह अपने मोबाइल एवं लैपटॉप द्वारा अच्छे से अच्छे टीचर से ज्ञान प्राप्त कर रहे हैं और आगे बढ़ रहे हैं।

ऑनलाइन क्लास किस प्रकार आयोजित किए जाते हैं। किस प्रकार उस में भाग लिया जाता है। यह सभी सिखकर आजकल के बच्चे डिजिटल हो रहे हैं।

ऑनलाइन क्लास से नुकसान

हर सिक्के के 2 पहलू होते हैं। ठीक उसी प्रकार ऑनलाइन क्लास के कुछ फायदे हैं तो कुछ नुकसान भी हैं। हमें नुकसान को नजरअंदाज नहीं करनी चाहिए। क्योंकि यह आपके बच्चे की भविष्य का सवाल है। नुकसान इस प्रकार हैं

1. मोबाइल की लत

3 से 4 घंटे ऑनलाइन क्लास करना है। होमवर्क मोबाइल से देखकर करना है। इस प्रकार प्रतिदिन बच्चे को 6-7 घंटे मोबाइल हाथ में आता है। इससे बच्चे को मोबाइल की लत लग रही हैं।

वह मोबाइल का गलत उपयोग कर सकता है। बच्चे के लिए यह काफी नुकसानदायक हो सकता हैं।

2. पढ़ाई के वक्त दूसरा एक्टिविटी

ऑनलाइन क्लास चलते वक्त कई बच्चे अपने दोस्तों से पर्सनल चैट करते रहते हैं। टीचर क्या पढ़़ा रहा है इससे कोई मतलब नहीं होती है। मां-बाप सोचते हैं कि बच्चे मोबाइल से पढ़ रहे हैं।

बच्चे पर्सनल चैट के साथ-साथ गूगल पर कुछ सर्च कर रहे हैं। कोई कहानी पढ़ रहे हैं। कोई यूट्यूब वीडियो देख रहे हैं। इस प्रकार की ग़लत आदतें बच्चे में विकसित हो रहे हैं।

3. स्वास्थ्य पर गलत प्रभाव

प्रतिदिन 6 से 8 घंटे मोबाइल का यूज करना कम उम्र के बच्चों के लिए काफी नुकसानदायक है। इससे निकलने वाली अल्ट्रावायलेट किरणें बच्चे के मस्तिष्क और शरीर पर बुरा प्रभाव डालता है।

आंखों का  खराब होना लगभग पक्का ही हो रहा है। ना जाने ऐसी कई बीमारियां जो भविष्य में पैदा हो सकती हैं।

4. बच्चों के व्यवहार में चिरचिरपन

बच्चे कई महीने से घर के अंदर बंद होकर उसके व्यवहार में एक चिरचिरापन उत्पन्न होने लगा है। बच्चे के स्वभाव में परिवर्तन हो रहा है। मोबाइल, टीवी और पढ़ाई जिंदगी इसी के बीच में सिमट कर रह गया है। ऑनलाइन क्लास में ना तो किसी दोस्त से मुलाकात होती है और ना ही उससे कोई मन की बात होती है।

इस प्रकार बच्चे अपने मन की बात किसी से शेयर नहीं कर पा रहे हैं। कई मां-बाप के पास इतना टाइम नहीं है कि बच्चे के पास कुछ पल बैठकर समय बिताएंं। जिसके घर में एक बच्चा हैं उसका तो और बुरा हाल हो गया है।

इस प्रकार मैंने ऑनलाइन क्लासेस से फायदा एवं नुकसान आपके साथ शेयर किया। ऑनलाइन क्लासेज लॉकडाउन में पढ़ाई का एक अच्छा विकल्प है। अपने बच्चे को हमेशा मोटिवेशनल कहानी सुनाएंं।

उनका मन को शांत रखें। एक टाइम टेबल बना दे जिससे उन्हें पढ़ने का कोई टेंशन ना रहे। छोटी-छोटी बातों पर गौर करेंगे तो आपके बच्चे ऑनलाइन क्लास से अच्छी तरह पढ़ कर परीक्षा में अच्छा नंबर ला सकते हैंं।

मेरे वेबसाइट का नाम स्टेशन गुरुजी है। मैं यहां पर पढ़ाई लिखाई, मोटिवेशनल कहानी, वित्तीय जानकारी इत्यादि विषय पर जानकारी शेयर करता रहता हूं। यह आपके लिए काफी लाभदायक हो सकता है।

आप गूगल में जाकर स्टेशन गुरुजी और उसके आगे अपना सवाल लिखें आपको उसका जवाब मिल जाएगा। आप मुझे ईमेल भी कर सकते हैं। मेरा ईमेल पता है [email protected]

धन्यवाद।

Author

  • Madan Jha

    Hello friends, मेरा नाम मदन झा है। मैं LNMU Darbhanga से B.Com (Hons) एवं कोटा विश्वविद्यालय राजस्थान से M.Com हूं। मेरे इस वेबसाइट का नाम स्टेशन गुरुजी www.stationguruji.com हैं। मैं रेलवे विभागीय परीक्षा (Railway LDCE Exam), बच्चों के पढ़ाई लिखाई, नौजवानों के लिए मोटिवेशनल कहानी एवं निवेश, स्टॉक मार्केट संबंधी वित्तीय एवं ज्ञानवर्धक जानकारी शेयर करता रहता हूं।( नोट - उपर में Download बटन लगा है। Download करने के लिए पेज़ पर सबसे नीचे View Non-AMP version पर क्लिक करें। फिर नए पेज़ पर Download बटन पर क्लिक करके इसे Download कर सकते हैं।)

Leave a Comment